Breast cancer ke lakshan in hindi

Breast cancer ke lakshan in hindi

क्या आपको पता है ? भारत में २० में से एक महिला स्तन कैंसर Breast cancer की शिकार है . ब्रेस्ट कैंसर breast cancer बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है .समय पर पता चलने पर ब्रैस्ट कैंसर को जड़ से दूर किया जा सकता है .

सबसे पहले यह खुद जाँच करें एवं थोडा सा भी संदेह होने की स्थिति में तुरंत चेक करवाएं . चिंतिति होने की जरूरत नहीं इसका इलाज आसान एवं बहुत ही सफल है .आजकल यह एक नार्मल बीमारी की तरह लिया जाता है .किसी भी तरह का इलाज करने से पहले किसी जानकार चिकित्सक की राय जरूर लें

Breast cancer signs and symptoms in hindi

 

 

Breast cancer ke lakshan in hindi:(ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण )

  • स्तन में गाँठ होना .
  • स्तनों के आकार का बदलना.
  • निप्पलों का अंदर जाना या आकार बदलना
  • निप्पलों से द्रव या खून निकलना
  • बगलों में सुजन आना .
  • निप्पल के आसपास लाल चकत्ते होना .
  • स्तन का कोई हिस्सा कदा होना .

अब यह सोचना भी जरुरी है कि स्तन कैंसर होता क्यूँ है ? स्तन कैंसर Breast Cancer के कारण क्या है ? आम तौर पर यह ४० साल से ज्यादा उम्र की महिलाओं में ज्यादा होता है .

पहले लोग कहा करते थे की कैंसर अमीर लोगों की बीमारी हैं . इस कथन का भी कारण था , अमीर लोगों का खानपान की दिनचर्या समय की कमी के कारण ठीक  नहीं रहती थी ,Junkfood भी अधिक खाने के कारण इसे अमीरों की बीमारी कहा जाता था  .

परन्तु आजकल आम लोगों की दिनचर्या पूरी तरह से बिगड़ी हुई है . खराब दिनचर्या daily Routine बीमारियों की जड़ होता है .कभी भी कुछ भी मिला उसे खा लिया .क्या चीज खा रहे हैं उसमें क्या मिला है उससे हमें कोई मतलब नहीं रहता .जो हम खा रहे हैं उसको कितना सफाई से बनाया गया है हमें मतलब ही नहीं रहता .

पर्यावरण में अत्यधिक प्रदूषण भी कैंसर का मुख्य कारण है . प्रदुषण में मौजूद सूक्ष्म कण जो सांसों के द्वारा हमारे शरीर में जाते हैं उनसे हमें गंभीर बीमारियाँ हो रहीं हैं .कैंसर के मरीजों की बढ़ती संख्या भी इसका मुख्य कारण है .हमारा रहन सहन ऐसा हो गया है की हमें अपने शरीर का ध्यान तब आता  है जब वह किसी गंभीर बामारी का शिकार हो जाता है .

इसके अतिरिक्त महिलाओं में कैंसर के कुछ और कारण भी हो सकते है :

  • मीनोपोस Menopause ( माहवारी रुकने के बाद ) होने के बाद महिलाओं के शरीर में होरमोंस परिवर्तन होतें हैं .मोटापा बढ़ता है ,जिसके कारण स्तन कैंसर की संभावना बढ़ जाती है .
  • अनुवांशिक कारणों से भी स्तन कैंसर(heredity Breast Cancer) होने की संभावना बढ़ जाती है .
  • धुम्रपान , शराब ,तंबाकू के सेवन से स्तन कैंसर की संभावना बढ़ जाती है .
  • लम्बे समय तक हार्मोन की गोली लेने से भी स्तन कैंसर होता है .
  • रेडिएशन के अधिक संपर्क में आने से भी स्तन कैंसर हो सकता है .
  • मिलावटी खानपान से भारत में स्तन कैंसर तेजी से बढ़ रहा है .

स्तन कैंसर दूर करने के घरेलु उपाय :(Breast cancer ka treatment hindi mein )

Breast cancer signs and symptoms in hindi

किसी भी बीमारी का इलाज है की आप अपने शरीर को शुद्ध एवं रसायनों एवं गन्दगी (toxins) दूर करें .बीमारियाँ लगने के मुख्य वजह शरीर में अनचाहे रसायनों toxins का जमा हो जाना होता है .अब सवाल उठता है  कि ये अनचाहे रसायनों toxins जमा कैसे होते हैं शरीर में ,इनकी कई कारण हो सकते हैं मुख्य है दो कारण .पहला तो यह की आप जो भोजन करते हैं वह आपका शरीर पूरी तरीके से पचाता नहीं मतलब की आपकी पाचन क्रिया पूर्ण रूप से ठीक नहीं है एवं बिना पचा भोजन शरीर में इकट्ठा होकर सड़ता है जिससे बीमारियाँ लगती हैं  .दूसरा कारण मुख्य है की वातावरण में अत्यधिक प्रदूषण होना जो सांसों द्वारा हमारे शरीर में जमा होता जाता है .जिसके कारण कैंसर जैसी बीमारियाँ होती हैं .

इन गंदे पदार्थों को शरीर से बाहर निकलना जरूरी है ,जैसे जैसे ये अनचाहे रसायनों toxins शरीर से बाहर होंगे शरीर फिर से स्वस्थ्य होता जायेगा .इनको दूर करने के लिए antioxidants का प्रयोग करना होगा .

  • cow urine गोमूत्र : गोमूत्र एक बहुत ही प्रभावशाली तत्त्व है एंटी oxidants का इसमें १५० से ज्यादा बीमारियों को ठीक करने की क्षमता है , ऐसे हजारों उदाहरण है जिन्होंने अपने last stage का कैंसर भी गोमूत्र के प्रयोग से पूरी तरीके से ठीक कर लिया .
  •  Turmeric : हल्दी में करकुमिन curcumin नामक तत्त्व पाया जाता है . curcumin की कमी से कैंसर होता है .इसलिए हल्दी का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए .आधुनिक विज्ञान के चिकित्सक भी करक्यूमिन की गोलियां खाने को देते हैं .अपने भोजन में नियमित रूप से हल्दी का सेवन करने से कैंसर होने की संभावना नही रहती.
  • ग्रीन टी Green Tea : ग्रीन टी के नियमित सेवन से स्तन कैंसर से छुटकारा पाया जा सकता है .
  • अलसी Flax Seed : अलसी में पाए जाने वाला एसेंसिअल ओमेगा ३ फैटी एसिड कैंसर के सेल्स को रोकता है व समाप्त भी करता है .
  • टमाटर : टमाटर में लाइकोपीन पाया जाता है .लाइकोपीन एक शक्तिशाली एंटी ओक्सिडेंट है जो कैंसर की रोकथाम में बहुत लाभदायक है .
  • पालक : हफ्ते में चार पांच बार पालक खाने से स्तन कैंसर जैसे बीमारी से बचा जा सकता है .इसमें लूतीन नमक एंटी oxidant पाया जाता है जो कई तरह के कैंसर से बचाव करता है .
  • ब्रोकोली : ब्रोकोली या उसकी फैमिली की दूरी सब्जियां जैसे फूल गोभी या पत्तागोभी का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर से बचा जा सकता है .ब्रोकोली में इण्डोल ३ कार्बिनोल पाया जाता है जो anticancer compound है .यह कैन्सर के ट्यूमर की ग्रोथ को रोकता है .
  • अखरोट : अखरोट का सेवन रोज करना चाहिए .इसमें कैंसर से लड़ने वाले बहुत से तत्त्व पाए जाते हैं .
  • ब्लूबेरी : ब्लूबेरी में विटामिन , मिनरल ,एंटी oxidant भरपूर पाया जाता है .इसको रोज खाने से ब्रैस्ट कैंसर से बचा जा सकता है .इसमें phaitochemicals पाया जाता है ,जो कैंसर बढ़ने से रोकता है . ब्लुबेर्री के अलावा स्ट्राबेरी ,ब्लैकबेरी ,क्रैनबेरी भी फायदेमंद होती है .
  • अनार या अंगूर का जूस : जूस में स्तन कैंसर को ख़त्म करने की क्षमता होती है .जूस के रोजाना पीने से स्तन कैंसर को कम किया जा सकता है .
  • लहसुन : लहसुन में मौजूद सल्फर स्तन कैंसर को रोकता हैं . सुबह खाली पेट रोजाना लहसुन के सेवन बहुत फायदेमंद होता है.

हम सब जानते हैं की आयुर्वेद को अब आधुनिक चिकित्सा जगत भी मानने लगा है आयुर्वेदिक इलाज के लिए बाबा कमलनाथ आश्रम अलवर की दवा एक बार जरूर लेकर देखें .वहां बहुत से मरीजों को breast cancer एवं हर तरीके के कैन्सर में बहुत फायदा मिला है एवं यहाँ दवा बिलकुल निःशुल्क मिलती है .

बाबूलाल वैध जिला बेतूल में भी कैंसर का फ्री इलाज़ होता है .

baba kamalnath ashram Alwar में कैंसर का इलाज़

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.