cancer ka ilaj india mein

cancer ka ilaj india mein

मिलावट है मुख्य कारण भारत में कैंसर का (cancer ka ilaj india mein)

आजकल भारत में कैंसर का मुख्य कारण खान पान है .हमें ये देखना होगा की हम क्या खा रहे हैं( cancer ka ilaj india mein) .

पहले लोग कहा करते थे की कैंसर अमीर लोगों की बीमारी हैं . इस कथन का भी कारण था , अमीर लोगों का खानपान की दिनचर्या समय की कमी के कारण ठीक  नहीं रहती थी ,Junkfood भी अधिक खाने के कारण इसे अमीरों की बीमारी कहा जाता है .

परन्तु आजकल आम लोगों की दिनचर्या पूरी तरह से बिगड़ी हुई है . खराब दिनचर्या daily Routine बीमारियों की जड़ होता है .कभी भी कुछ भी मिला उसे खा लिया .क्या चीज खा रहे हैं उसमें क्या मिला है उससे हमें कोई मतलब नहीं रहता .जो हम खा रहे हैं उसको कितना सफाई से बनाया गया है हमें मतलब ही नहीं रहता .

cancer ka ilaj india mein

आप खुद सोचिये सुबह से रात तक आप कितनी ऐसी चीजों का प्रयोग करते हैं जो कैंसर को पैदा करती हैं .आप जिस वातावरण में सांस ले रहे हैं क्या वह साफ़ है ? हमने क्या किया है अपने वातावरण को साफ़ रखने के लिए ? हमनें वह सब किया जिससे वातावरण में जहरीले गैस व तत्त्व बढ़ जाएँ .हम जो सांस ले रहे हैं वो हमारे शरीर में कैंसर पैदा कर रही है .हम उन पेड़ों को ख़तम करते जा रहे हैं जो वायु को शुद्ध करते हैं .

cancer ka ilaj india mein

आप दूध का प्रयोग करते हैं आपको उसकी शुद्ध होने के बारे में क्या पता है . आंकड़ों के हिसाब से भारत में जितना दूध बिकता है उसके हिसाब से हमारे देश में एक चौथाई गाय या भैंस हैं .इसका मतलब तीन चौथाई दूध कहाँ से आता है ? भारत में बहुत बड़ी मात्रा में मिलावटी दूध बनाया जाता है जो शरीर में सीधा कैंसर करता है इस दूध में यूरिया व पोटाश जैसा जहर मिलाया जाता जाता है .ये मिलावटी दूध भारत में कैंसर (cancer ka ilaj india mein ) होने का बहुत बड़ा कारण है .

cancer ka ilaj india mein

हम रोजाना में जिन सब्जियों को ये समझ कर  खा रहे हैं की ये पौष्टिक हैं .लेकिन सबमें Pesticides का इस्तेमाल किया जाता है  जो शरीर को नुक्सान पहुंचाते हैं और भारत में कैंसर (Cancer in India ) का मुख्य कारण है .आजकल फलों  को पकाने में रसायन का इस्तेमाल बहुत होता है इन सब रसायन से हम अपने शरीर में विषाक्त (जहर) इकठ्ठा करते हैं .इन विषाक्त का शरीर से बाहर आना बहुत जरूरी है इनको कैसे बाहर कैसे निकाले इसके लिए यहाँ पढ़े …    ये जहर शरीर में इकठ्ठा होकर भारत में कैंसर (Cancer in India ) का मुख्य कारण है .

हम अपने भोजन में बाज़ार से पिसे हुए मसालों  का प्रयोग करते हैं . क्या आपको पता है की जिस पीसी हुई मिर्च का प्रयोग अपने भोजन में करते हैं उसमें लाल रंग का रसायन डाला गया है या पीसी हुई लाल ईंट डाली गयी है .आप थोडा से बाज़ार भाव पता करें पीसी हुई लाल मिर्च आपको बिना पीसी मिर्च से सस्ती मिल जाएगी ,क्या यह संभव है बिना मिलावट के ? भारत में कैंसर (Cancer in India ) का मुख्य कारण मिलावट है .

काली मिर्च में में पपीते के बीज मिलाये जाते हैं .धनिया पाउडर में गन्दगी मिलाई जाती है .अनजाने में हम शरीर को स्वस्थ्य करने के लिए जो फल जूस खाते पीते  हैं वो फायदे की जगह नुक्सान ही पहुंचाते हैं .

अब आपको निर्णय लेना है कैसे इस जानलेवा बीमारी से खुद को और अपने परिवार को इससे दूर रखें .

अब कुछ समझ में आ रहा है की आप अपने शरीर में सिर्फ और सिर्फ जहर भरते चले जा रहे हैं और यही जहर हमें गंभीर से गंभीर बीमारियाँ देता जा रहा है .कई बार तो हमें जब इन बीमारियों के बारे में पता चलता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है.दिनचर्या ठीक नहीं होने के कारण हम डायबिटीस के शिकार हो जाते हैं .अधिक मिलावटी रसायनों के प्रयोग से कैंसर जैसी बीमारी हो जाते है .डायबिटीस को हम कुछ दिनचर्या में सुधार करके कंट्रोल रख सकते हैं एवं परहेज भी रख सकते हैं .

अब अगर किसी को कैंसर हो ही गया है तो उसके पास उपचार के अलावा कोई चारा नहीं है .उपचार भी दो तरीके का होता है आयुर्वेदिक एवं एलोपथिक . यहाँ हम आपको आयुर्वेदिक उपचार के ऐसी जगह के बारे में बताते हैं जो कैन्सर के इलाज में बहुत अच्छे परिणाम दे रहे हैं एवं वहां से बहुत मरीजों को फायदा हो रहा है .एक जगह है बाबा कमलनाथ आश्रम अलवर एवं दूसरी जगह है बेतुल मध्य प्रदेश का आश्रम . यहाँ आपको यह जरूर बता दूं की दोनों जगह निःशुल्क (फ्री ) में दवा दी जाती है अगर आपके किसी मिलने वाले को यह बीमारी लग गयी है तो इनके बारे में जरूर बताएं और इस पेज को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें आपके एक शेयर से किसे  की जान बच सकती है

कैसे शरीर में इकठ्ठा गन्दगी ( Toxins) साफ़ करें ….

गोमूत्र का प्रयोग कैंसर में उपयोगी है ……..

कैंसर का आयुर्वेदिक उपचार …….

बाबा कमलनाथ आश्रम में फ्री कैन्सर का इलाज 

वैध बाबूलाल जिला बेतूल में कैंसर का इलाज 

Leave a Reply

Your email address will not be published.