cow urine milk therapy

cow therapy (गोमूत्र चिकित्सा ) से संभव है हर इलाज

cow urine benefits

 यूँ ही नहीं गाय cows को हिन्दुस्तान में गोमाता कहा जाता है .

गाय(Indian cow)  द्वारा तीन चीजो का त्याग किया जाता है. दूध(cow milk ),मूत्र (गोमूत्र cow urine ) व गोबर (cow dung).अगर हम इन तीनो को पूरी तरह से समझ लें और अपने जीवन में इसका प्रयोग कर लें तो कभी किसी गंभीर रोग रोग आपके करीब भी नहीं आयेगा इसी को कहते हैं गौ चिकित्सा (cow therapy).

हम सबको पता है की हमारे पहले की पीढ़ी में सब लोग ज्यादा स्वस्थ्य थे एवं उनकी औसत आयु भी ज्यादा थी ,कारण बहुत से हो सकते हैं दैनिक दिनचर्या ,खानपान ,प्रदूषण ,मिलावट ,एवं अन्य .लेकिन अब हम कर भी कुछ नहीं सकते .इन सबके बीच रहकर भी कैसे शरीर को स्वस्थ्य रखे ये हमारे लिए chalange है .कुछ है जिससे हम अब भी स्वस्थ्य जीवन जी सकते हैं लेकिन इसके लिए हमें सचेत होना होगा .

क्या आपको पता है देसी गाय की संरचना ऐसी है की उसके द्वारा जो कुछ भी बाहर निकलता है उसमें ऐसे रसायन एवं प्राकृतिक तत्त्व मिलते हैं जो किसी भी अन्य वास्तु में इकट्ठे नहीं पाय जा सकते .गाय के द्वारा तीन मुख्य चीजों का त्याग करती है .दूध , मूत्र एवं गोबर .अगर हम अपने जीवन में इन तीनो वस्तु का उचित प्रकार से प्रयोग करें तो जिंदगी में कभी कोई शारीरिक बीमारी नहीं होगी .यहाँ हम जानेंगे की ऐसा क्या है गाय में की इसे माता का दर्जा दिया जाता है .यहाँ यह जरूर जान लीजिये की हम सिर्फ और सिर्फ भारत की देसी गाय के बारे में बात कर रहे हैं .विदेशी या जर्सी गाय में ऐसे कोई गुण नहीं होते हैं .

देसी गाय के दूध के गुण :

पहला प्रोडक्ट जो गाय हमें देती है वह है दूध .

अब तो यह वैज्ञानिकों द्वारा भी प्रमाणिक हो चूका है कि गाय का दूध में बहुत ही अद्भुद गुण पाए जाते हैं .अगर आप किसी भी प्रकार की आयुर्वेदिक दवा लेते हैं तो गाय के दूध से लेने से उसका प्रभाव कई गुना बढ़ जाता है .गाय का दूध आसानी से पचता है जिससे हमारा पाचन तंत्र ठीक रहता है .छोटे बच्चों को पेट दर्द या पाचन की बहुत समस्या रहती है इस्ल्ये इन बच्चों को देसी गाय का दूध बहुत फायदेमंद होता ,बच्चों में आसानी से ये दूध पाच जाता है .इसमें बहुत से तत्त्व पाए जाते हैं जो बचूं को राग से मुक्त रखते हैं .अगेर कोई माता अपना दूध बच्चों को पिलाती है तो ऐसी माता को देसी गाय के दूध का सेवन जरूर करना चाहिए ,इससे उस महिला का दूध भी बढ़ जायेगा एवं उसके दूध में गाय के दूध के तत्त्व भी मिश्रित हो जायेंगे जिसका सीधा लाभ बच्चे पर पड़ेगा .बच्चा सेहतमंद रोगों से मुक्त एवं मानसिक विकास युक्त होता जायेगा .

गाय के दूध में कैल्सियम बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है इसके सेवन से हड्डियां मजबूत एवं दांत भी मजबूत एवं सुंदर होते हैं .गाय के दूध के लगातार सेवन से कैंसर जैसी बीमारी में भी बहुत फायदा होता है .कैंसर की दवा के लिए प्रसिद्ध बाबा कमलनाथ आश्रम अलवर में भी दवा एक ही शर्त पर मिलती है की इसका सेवन सिर्फ और सिर्फ देसी गाय के दूध के साथ करना होगा .

गाय के दूध में 5 अलग अलग विटामिन ,२० तरीके के एमिनो एसिड ,२५ तरीके के मिनरल्स ,आयरन ,कैल्सियम ,फॉस्फोरस,कॉपर एवं बहुत से ऐसे तत्त्व जिसकी जरूरत हेर शरीर को होती है .इसलिए देसी गाय के दूध को सम्पूर्ण भोजन माना  जाता है .इसलिये गाय को हिन्दुस्तान में गोमाता भी कहा जाता है .गाय के दूध से निर्मित घी में भी वही सब गुण होते हैं जो दूध में इसलिए घी की जगह गाय के दूध का इस्तेमाल बहुत ही फायदेमंद होता है .

गाय के द्वारा दिया जाने वाला दूसरा प्रोडक्ट है गोमूत्र :

आखिर क्यूँ है गोमूत्र cow urine benefits  इतना फायदेमंद? यह जानने के लिए बहुत शोध research किये गए और निष्कर्ष निकला की गोमूत्र (cow urine) में इसे सभी तत्त्व पाए जाते हैं जो मनुष्य के शरीर के लिए अत्यंत आवश्यक हैं.यदि उन तत्वों में से किसी की भी कमी हो जाती है तो कोई न कोई रोग लगना निश्चित है .

कैंसर के इलाज़ में गोमूत्र के फायदे ( cow urine therapy in cancer) को चिकित्सा जगत ने भी माना है  .कैंसर ही नहीं बहुत  सी बीमारियों में गोमूत्र के फायदे cow urine benefits  देखने को मिले हैं .

 

cow urine benefits

एक रोचक तथ्य ये भी है की गोमूत्र(cow urine) में ऐसा कोई तत्त्व नहीं पाया जाता जो मनुष्य के शरीर के लिए हानिकारक हो यही कारण है की हमारी संस्कृति में गोमूत्र को अमृतुल्या माना गया है.

गाय जब दूध देती है तो उसका दूध व गोबर बहुत लाभकारी होता है .जब गाय दूध देना बंद कर देती है तब उसका गोमूत्र (cow urine ) किसी भी रोग के निदान के लिए रामबाण दवा के रूप में कार्य करता है . कुछ आयुर्वेदाचार्य ने तो बोला है की जब रोग या उसके निदान के बारे में कुछ समझ न आए तो उसे गोमूत्र cow urine का उपयोग करना चाहिए और ऐसे मामलों में आश्चर्यजनक फायदे देखने को मिले हैं .

एक और रोचक तथ्य यह है कि भारतीय देसी नस्ल की गायों की इन्ही लाभकारी गुणों के कारण विदेशों में जबरदस्त मांग है. और एक एक गाय के करोणों billians रुपये में खरीदने को लोग तैयार रहते हैं .

cow urine benefits

वैसे तो सभी रोगों में गोमूत्र अत्यनत लाभकारी होता है और ऐसा आधुनिक शोधों से प्रमाणित भी हो चुका है कुछ रोगों के बारे में जानते हैं जिसमें गोमूत्र रामबाण दवा(cow urine) जैसा काम करता है :

  • कैंसर cancer में गोमूत्र के फायदे cow urine benefits in cancer 
  • पीलिया Jaundice में cow urine के फायदे
  • बवासीर Piles में cow urine फायदे 
  • भगंदर में cow urine फायदे 
  • जोड़ों का दर्द Joint pains में cow urine से लाभ मिलता है 
  • मुत्रावरोध Prostate में cow urine के जबरदस्त फायदे  देखने को मिले हैं
  • श्वांस की समस्या Breathing problem में cow urine के फायदे 
  • प्रतिरोधक क्षमता Immune system में cow urine के फायदे 
  • cow urine benefits in weight lose वजन घटने में गोमूत्र से फायदा 

मनुष्य के शरीर में karkyumin नामक तत्त्व की कमी के कारण कैंसर cancer होने की संभावना बहुत हद तक बढ़ जाती है .गोमूत्र में karkyumin भरपूर मात्रा में पाया जाता है. इसलिए गोमूत्र के प्रयोग से कैंसर के रोगियों को आश्चर्यजनक रूप से फायदा हुआ है .

cow urine benefits

एक स्वस्थ मनुष्य यदि गोमूत्र cow urineका सेवन नियमित रूप से प्रयोग करे तो शरीर की प्रतिरोधक छमता बहुत बढ़ जाती है और कोई भी रोग शरीर के पास भी नहीं आता है .

गोमूत्र से लगभग १५० बीमारियों को दूर किया जा सकता है .आगे के पोस्ट में आपको बताया जाएगा की गए के गोबर व दूध के क्या फायदे cow urine हैं .

क्या आपको पता है (गोमूत्र के फायदे एवं नुकसान ) ऐसे कितने तत्त्व हैं गोमूत्र cow urine में ,जो इसे अम्रतुल्या बनाते हैं ? गोमूत्र में ऐसे बहुत सी धातुएं पाई जाती है , जिससे कैंसर जैसे बीमारी भी दूर हो सकती है .गोमूत्र cow urine में ऐसा कुछ नहीं पाया जाता जो शरीर को नुक्सान पहुंचाए . (Cow urine side effects नहीं होते हैं )

गोमूत्र cow urine एक ऐसा दुर्लभ पदार्थ है जिसमें प्राकृतिक रूप में कुछ महत्वपूर्ण धातुएं पाई जाती हैं . हर एक धातु मानव शरीर के किसी न  किसी अंग को मजबूती देता है .जानिए ऐसे क्या तत्त्व हैं गोमूत्र में ….

    • cow urine benefits

 

  • अमोनिया Amonia : इसकी कमी होने से शरीर वायु , बाईल जूस रोग होते हैं . आमोनियाँ से नए रक्त को बनाने में भी मदद मिलती है .
  • सल्फ़र Sulfur : बड़ी अंत में मल का प्रवाह बनाये रखता है . रक्त को शुद्ध करता है .
  • नाइट्रोजन Nitrogen : रक्त से अनावश्यक तत्वों को बाहर निकालता है ,मूत्र मार्ग को स्वस्थ्य रखता है जिससे प्रोस्टेट की बीमारियों से दूर रहते हैं ,जो आगे चलकर प्रोस्टेट कैंसर बन जाता है .
  • कापर copper  : शरीर में अनावश्यक फैट को दूर करता है .

 

  • यूरिया  : इसका सीधा सम्बन्ध किडनी से है . ये रक्त से अनावश्यक तत्वों को बहुर निकलता है .शरीर को शुद्ध रखता है .जिससे किडनी स्वस्थ्य रहती है .

 

  • यूरिक ऐसिड : ये ह्रदय को स्वस्थ्य रखता है .इससे हृदय रोगों को दूर रखने मैं मदद मिलती है .

 

  • आयरन : गोमूत्र में आयरन बहुत मात्र में पाया जाता है . इससे लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण होता है .इससे शरीर में बीमारियों से लड़ने की प्रतिरोधक छमता बढ़ती है .

 

  • फास्फेट : फासफेट शरीर में पथरी बननें से रोकता है .

 

  • पोटेशियम : इससे हड्डियां मजबूत होती हैं .शरीर की कमजोरी को दूर करता है . भूख बढ़ाना व शरीर को चुस्त रखना भी इसका काम है .

 

  • सोडियम : रक्त को शुद्ध करता है .

 

  • कार्बोलिक ऐसिड : किसी भी बीमारी के कारण होने वाले जीवाणुओं को मारता है ,उनसे होने वाली हानि से रोकता है .

 

  • मैगनीस : किसी भी बीमारी के कारण होने वाले जीवाणुओं को मारता है ,उनसे होने वाली हानि से रोकता है .

 

  • कैल्सियम :हड्डियों को मजबूत बनता है .

 

  • साल्ट : एसिडिटी को नियंत्रित रखता है .

 

  • एंजाइम्स : पाचन क्रिया को सुचारू रखता है .शरीर को मज्भूत बनता है .

 

  • लैक्टोस: गोमूत्र cow urine में लाक्टोस पाया जाता है .इससे मुख में होने वाली बीमारियों से बचा जा सकता है .

 

  • जल: गोमूत्र cow urine में पानी बहुत मात्र में पाया जाता है . इससे शरीर के रक्त में तरलता बनी रहती है . शरीर का तापमान बना रहता है .

 

  • हाइप्युरिक ऐसिड : मूत्र से गंदगी को निकालता  है ,इससे किडनी स्वस्थ रहती है .प्रोस्टेट के रोगों से बचाव होता है .

 

  • क्रियेतिनाइन : हानिकारक कीटाणुओं को मारता है व शरीर को स्वस्थ रखता है .
  • केरक्युमिन: शरीर में कैंसर होने का मुख्य कारण इसकी कमी होना है . गोमूत्र cow urine  में करक्यूमिन अधिक मात्र में पाया जाता है . यह शरीर में तेजी से घुल जाता है और कैंसर में बहुत लाभ होता है .गोमूत्र के नियमित प्रयोग से अंतिम स्तर के कैंसर भी ठीक होते देखा गया है .

 

  • विटामिन ऐ ,बी,सी,डी ,ई: ये सभी विटामिन से शरीर की शक्ति बढ़ती है .इससे प्रजनन भी बढ़ती है .हड्डियाँ मजबूत होती हैं .बहुत से रोगों में फायदा होता है .जाने माने आयुर्वेदाचार्य तो ये कहते हैं कि यदि कोई रोग लग भी जाये ,और कुछ समझ न आये तो गोमूत्र cow urine का सेवन कीजिये . इसके सेवन से सभी पदार्थ सीधे उत्तकों तक पहुँच जाते हैं और तुरंत लाभ होता है .इससे शरीर से सभी हानिकारक तत्त्व बहुर निकल जाते है . जब हानिकारक तत्त्व नहीं रहेंगे तो शरीर अपने आप ही स्वस्थ रहेगा .

 

  • आज के जीवन में मिलावट ,pesticides,और न जाने क्या क्या शरीर में जाता है .यदि हम गोमूत्र का cow urine therapy ( गाये का पेशाब )सेवन नियमित करेंगे तो बीमारियों से दूर रहेंगे .

गोमूत्र के आश्चर्यजनक फायदे के कारन ही ब्राजील जैसे देशों में देसी गाय की कीमत करोणों में है .जाने माने आयुर्वेदाचार्य तो ये कहते हैं कि यदि कोई रोग लग भी जाये ,और कुछ समझ न आये तो गोमूत्र का सेवन कीजिये . इसके सेवन से सभी पदार्थ सीधे उत्तकों तक पहुँच जाते हैं और तुरंत लाभ होता है .इससे शरीर से सभी हानिकारक तत्त्व बहुर निकल जाते है . जब हानिकारक तत्त्व नहीं रहेंगे तो शरीर अपने आप ही स्वस्थ रहेगा .आज के जीवन में मिलावट ,pesticides,और न जाने क्या क्या शरीर में जाता है .यदि हम गोमूत्र का सेवन नियमित करेंगे तो बीमारियों से दूर रहेंगे . गोमूत्र के आश्चर्यजनक फायदे के कारन ही ब्राजील जैसे देशों में देसी गाय की कीमत करोणों में है .