walking for health

10 tips for a healthy life स्वस्थ्य दिनचर्या

10 Tips for a healthy life क्या है आपकी दैनिक दिनचर्या

10 tips for a healthy life

आइये जानते हैं कि आप क्या सही या गलत कर रहे हैं अपने दैनिक दिनचर्या में  (10 tips for a healthy life )

क्या आप जानते हैं कि आप अनजाने में ही  सुबह से रात तक वह सब करते हैं जो आपके लिए हानिकारक है . आप ऐसा क्या कर रहे हैं जो आपके लिए फायदेमंद है(10 tips for a healthy life).इसके लिए जरुरी है कि आपको अपनी दिनचर्या का आंकलन करना होगा . आपकी गलती भी नहीं है क्योंकि आपको पता ही नहीं है कि आपको कैसे जीवन जीना है .पहले के ज़माने में आपके घर के बड़े लोग आपको ऐसी बातें बताते थे जो  हमारे स्वस्थ्य जीवन से सम्बन्ध रखती थी. .जैसे जल्दी सोना एवं जल्दी जागना अच्छे स्वस्थ्य जीवन के लिए जरूरी होता है,जल्दी उठकर सुबह टहलना,व्यायाम करना इत्यादी ..खुद देखिये आप इनमें से कितनी बातों का पालन कर रहे हैं .

एक महानगर में रहने वाले व्यक्ति की दिनचर्या क्या होती है(10 tips for a healthy life ).सुबह सुबह उठते ही उसे ऑफिस में लेट न हो इसकी चिंता लगती है और जल्दी जल्दी जो भी समझ में आया खाकर ऑफिस के लिए निकल लिए . देखिये आपने क्या क्या गलती की , अच्छे स्वास्थय के लिए अच्छा खानपान बहुत ही आवश्यक है .सुबह का नाश्ता ही आपके शरीर को पूरे दिन की ऊर्जा देता है और वही आपने नहीं किया अच्छी तरह से .तब आपके शरीर को पूरे दिन काम करने के लिए एनर्जी नहीं मिल पाती और शरीर रिजर्व एनेर्जी से ही काम चलाता है जिससे शरीर पर अनावश्यक बोझ पड़ता है और metabolism rate कम हो जाता है एवं जल्दी ही आपको थकान महसूस होने लगती है .बहुत देर तक न खाने से गैस एवं अपच जैसी समस्याएं होने लगती है.दूसरा आपने मानसिक रूप से भी चिंता की ऑफिस लेट न पहुँचने की .यानी शरीर और मष्तिष्क दोनों के साथ आपने गलत किया .ऐसी दिनचर्या में बहुत अधिक संभावना है की आपका शरीर रक्तचाप की बीमारी का शिकार हो जाये जो आगे चलकर दिल की गंभीर बीमारी बन जाती है .इससे बचने के लिए यहाँ पढ़ें …..

10 tips for a healthy life

घर से निकलते ही आप सांस में जहर लेना शुरू कर देते हैं .सबको पता है अब भारत में किसी भी शहर में हवा में प्रदुषण बहुत ही खतरनाक स्तर पर पहुँच गया है .इसके लिए आप क्या कर रहे हैं , कुछ नहीं ना .दूसरों को दोष ना दीजिये सब कुछ हम सबका  ही करा धरा है .आपने क्या किया है जिससे आपका वायुमंडल में जहरीले तत्त्व न बढे या कम हो ? . हम सबको पता है कि पेड़ हमारे शुद्ध वातावरण के लिए बहुत आवश्यक हैं और इन पेड़ों की संख्या लगातार कम होती जा रही है .

अच्छा चलिए मान लेते हैं की बिना सांस लिए रह नहीं सकते अब अगर हवा में जहर है तो जहर भी लेना मजबूरी है .लेकिन इस जहर को शरीर से निकलने के लिए कुछ किया आपने नहीं ना ? क्या आपको पता है दिल्ली जैसे शहर में रहने का मतलब है की आप २० सिगरेट का धुंआ एक दिन में ले रहे हैं .कोई बात नहीं ये सिर्फ आपकी कहानी ही नहीं मेरी भी है हम सबकी है .अब सोचना आपको है की हम क्या क्या गलती कर रहे हैं .शरीर से जहरीले तत्त्व बाहर निकलने के लिए detoxination of body के लिए यहाँ पढ़ें ……

अब सोचिये आप अपने शरीर का इतना नुक्सान करते हुए ऑफिस पहुँच गए .अब आपका मानसिक नुक्सान शुरू होने वाला है .यहाँ आपको बहुत विभिन्न तरीके के मानसिक तनाव मिलने शुरू हो जाते हैं ,जैसे सेल्स का टार्गेट कैसे पूरा होगा .जब नींद पूरी नहीं होती तो स्वाभाव चिडचिडा हो जाता है और ऑफिस मैं परफॉरमेंस गिरता जाता है और इसका बुरा असर मानसिक रूप से पड़ना शुरू हो जाता है .इन कारणों से डायबिटीस होने की सम्भावना बढ़ जाती है

ऑफिस में चाय काफी फास्टफूड जो भी मिला खा लिया  .आधा दिन हो चूका है और आपने अभी तक कुछ भी अच्छा नहीं खाया जो आपके शरीर को फायदा पहुंचा हो हाँ नुक्सान पहुँचाने वाले बहुत से काम कर चुके हैं .हो सकता है आपने lunch लिया हो चलिए अच्छा है लेकिन आपने क्या खाया ये ज्यादा महत्वपूर्ण है .कुछ लोग सुबह की बजाय दोपहर में ज्यादा खाना खाते हैं .लम्बे समय तक इस आदत से मोटापे की समस्या होने लगती है .

काम के बोझ की वजह से रोज़ ही आपको घर पहुँचते हुए आठ तो बज ही जाते होंगे .थक हारकर आप लेट जाते हैं टीवी देखने लगते हैं साथ में चाय या कोफी ले लेते हैं महत्वपूर्ण यह है की आपने दिनभर में कितनी चाय पी क्यूँकी भोजन के समय चाय पीने से acidity की समस्या होती है ,एवं भूख भी ख़त्म करती है .इसलिए आप रात का भोजन देर से करते हैं .रात का भोजन सोने से दो तीन घंटे पहले करना चाहिए और हो सके तो खाने के बाद थोडा टहलना बहुत जरूरी है .

कोई बात नहीं ऐसी दिनचर्या होते हुए भी आप स्वस्थ्य कैसे रह सकते हैं अब हम इसके बारे मैं जानेंगे क्योंकी अब इस दिनचर्या को छोड़ा भी नहीं जा सकता . आप कहेंगे कि क्या करें क्या नौकरी छोड़ दें ,शहर में रहना छोड़ दें या खाना पीना छोड़ दें नहीं नहीं बिलकुल नही ऐसा तो सोचा भी नहीं जा सकता . बदलते माहौल ,इसी पर्यावरण में रहते हुए ,दिनचर्या को थोडा परिवर्तित करते हुए कैसे स्वस्थ्य रहा जा सकता है यहाँ पढ़ें …...

चलिए जानते हैं की सुबह से हमारी क्या दिनचर्या होनी चाहिए कोई जरूरी नहीं की सभी बातें मानी जायें हाँ जो आसानी से कर सकते हैं उसकी शुरुवात करें10 tips for a healthy life यहाँ पढ़ें …

सुबह सुबह उठते ही खाली गुनगुना पानी जरूर पियें पेट भरकर .अगर हाई BP की प्रोब्लेम है तो २से ४ कलियाँ लहसुन की पानी के साथ पीजिये कुछ दिनों में रक्तचाप normal हो जायेगा .अगर मोटापा है तो शहद के साथ पानी पीजिये इससे वजन कम होता है .सुबह सुबह पानी पीने से जो जहरीले तत्त्व (toxins) दिनभर वातावरण में गंदगी की वजह से आपके शरीर में जमा हुए हैं वो बाहर निकलेंगे .एक बार पेट अच्छी तरह से साफ़ हो जाये तो यकीन मानिए आधी लडाई आप जीत गए . पाचन तंत्र ठीक होगा तो आप दिनभर अच्छा महसूस करेंगे प्रसन्न रहेंगे और आपका मस्तिष्क अच्छे हार्मोन प्रसारित करेगा जो मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थय के लिए बहुत ही फायदेमंद है .यदि आपका पाचन क्रिया ठीक नहीं रहेगी तो दिनभर मानसिक तनाव बना रहेगा.

10 Tips for a healthy life

10 -15 मिनट तो निकल ही सकते हैं आप स्वस्थ्य शरीर के लिए .कुछ व्यायाम ,थोड़ी देर सुबह की सैर , कुछ देर योग ,अगर ये तीनो नहीं कर सकते तो कोई एक चुन लें अपनी दिनचर्या के हिसाब से . अगर आपकी की दिनचर्या .में आप पैदल ३० से ४५ मिनट चलते हैं तो योग को चुन लें और साथ में थोडा व्यायाम . आप शुरुआत करके देखिये धीरे धीरे आपको सब बहुत अच्छा लगने लगेगा .

स्वस्थ्य रहने के लिए मानसिक प्रसन्नता बहुत जरूरी है इसलिए प्रसन्न रहने की कोशिश कीजिए बिना प्रसन्न रहे आप स्वस्थ्य नहीं रह सकते .ऐसे बहुत से उदाहरण मिल जायेंगे जिन्होंने मानसिक सोच को इतना सकारात्मक कर लिया कि उनके स्वास्थय और जीवन में बहुत सकारात्मक परिवर्तन आया .

10 Tips for a healthy life

सुबह का नाश्ता सबसे महत्वपूर्ण होता है इसलिए बिना कुछ खाए घर से न निकलें ,दिनचर्या को ऐसा बनाये की सुबह का नाश्ता भरपेट एवं जितना पोष्टिक हो सके उतना लीजिये .

दोपहर के भोजन में बहुत भारी न खाएं ,जूस का सेवन करिए .रात का भोजन सोने से कम से कम दो घंटे पहले करिए .रात के खाने के बाद टहलना बहुत आवश्यक है . लेकिन अधिकतर लोग रात को खाने के तुरंत बाद सो जाते हैं .ये आदत सबसे ज्यादा हानिकारक है .ऐसा भोजन शरीर में सिर्फ विषाक्त तत्त्व Toxins को ही जमा करता है .

इसके बाद भी कोई बात नहीं सभी आदतों को नहीं बदला जा सकता किन्तु कुछ बातों से शुरुआत तो करी ही जा सकती है .आप शुरुआत कीजिये …..

स्वास्थय ही पूंजी है10 tips for a healthy life लेकिन आज की व्यस्त एवं भागदौड वाली जिन्दगी पर नज़र डालें तो इस बेशकीमती पूंजी को लेकर हम सब लापरवाह हो रहे हैं काम की व्यस्तता की वजह से घर में तनाव है ,ऑफिस में तनाव है ,बच्चों की टेंशन है .जीवन की इस रोज़ की ज़द्दोजहद के पीछे अन्जाने में ही हम स्वास्थ्य को नज़रंदाज़ करते जा रहे हैं .नतीज़ा सबकुछ पाकर भी हम खुश नहीं हैं .अब सवाल यह है की हम अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी को कुछ इस तरह से ढाल लें की हम स्वस्थ्य भी रहे और प्रसन्न भी .हम रहन सहन खानपान और साफ़ सफाई के तौर तरीकों पर ध्यान देकर तंदरुस्ती को अपने जीवन में ला सकते हैं .

6 comments

  1. Businesses are erasing the boundaries between nations and as a fruit, communication act the requisite part in expanding your reach as entrepreneur.
    Communication, in this quandary, is the wit to convert between any intercourse
    brace there is and the rewrite services bourgeon has made it
    even easier. You just have to change sure the company you depute your rendition offers fair serving, which can be verified close checking the reviews of the
    fastidious one.

  2. It has never been easier to prefer between the interpretation services, as all consumer opinions and testimonials are gathered in identical
    see for you to pick the best. Take off peevish calibre and as a culminate bad experience alongside consulting any paraphrase
    website reviews. Thoroughly written testimonials choice influence you by the dispose of
    of selecting the one and purely change waiting that last
    will and testament fit your needs.

  3. Businesses are erasing the boundaries between nations and as a fruit, communication act the chief portion in expanding your reach as entrepreneur.
    Communication, in this quandary, is the knack to mutate between any language pair there is and the transfiguration services increase has made it disinterested easier.
    You righteous be suffering with to coerce sure the flock you trust your decipherment offers
    adequate accommodation, which can be verified by checking the
    reviews of the fastidious one.

  4. Приобрести сироп Mangoosteen можно на веб-сайте http://mangystin.bxox.info/

    Предлагаем нашим клиентам потрясающее средство для похудения Mangoosteen. С его помощью можно сбросить около 15 кг за 14 суток.

    Дерево мангостан растет в Таиланде. Плоды растения имеют замечательные особенности. В баночке имеется около 20 плодов данного замечательного дерева. Плоды растения мангостан помогают растопить чрезмерную жировую ткань. И отлично влияют на организм в целом. Технология изготовления средства, а также специализированная упаковка позволяют сохранить все удивительные свойства мангостина.

    Основным веществом сиропа Мангустина являются фрукты с дерева мангустин, в которых имеется большое число полезных веществ. Благодаря веществу ксантону, которое в огромных дозах содержатся во фрукте, значительно тормозятся окислительные процессы в теле. Ксантон признается одним из самых мощных антиоксидантов. В плодах дерева мангкут вдобавок есть разные группы витаминов и микроэлементы. Купить сироп Mangoosteen возможно на сайте http://mangoo77.mangoosteen.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published.