skin care in hindi for oily skin

skin care in hindi for oily skin तैलीय त्वचा के लिए घरेलू इलाज

सुन्दर एवं प्रभावशाली दिखने के लिए बहुत जरूरी है की चेहरे पर रौनक एवं तेज होना चाहिए .इसके लिए बहुत जरूरी है की आपकी त्वचा का ऑयली होना .जब तक ऑयली स्किन नहीं होगी तब तक चेहरे की त्वचा पर रौनक नहीं होगी .परन्तु स्किन का अधिक ऑयली होना चेहरे की सुन्दरता को ख़राब करता है इसलिए ऑयली स्किन की देखभाल बहुत जरूरी है .चेहरे पर आयल न ज्यादा होना चाहिए न ही कम .इसलिए ऐसी त्वचा की देखभाल जरूरी है .

वैसे तो तैलीय त्वचा Oily skin के बहुत नुक्सान हैं .इसका एक फायदा भी है इससे झुर्रियां देर से आती हैं और एजिंग के लक्षण कम दिखाई देते हैं ,अधिक उम्र में भी झुर्रियां नहीं आती .तैलीय त्वचा की वजह से चेहरा चिपचिपा ,मुंहासे ,कील ,झाइयां जैसी बहुत सी समस्याएं हो जाती हैं .

तैलीय त्वचा oily skin के कारण चेहरा धुप में बहुत जल्दी काला पड़ जाता है .इसे sun tanning भी कहते हैं .चेहरे का मेकअप तैलीय त्वचा में  ज्यादा देर तक नहीं रुक पाता जिससे कई बार बहुत शर्मिन्दा होना पड़ता है .

 

त्वचा में ज्यादा या कम नमी से समस्या होती है .त्वचा में न  तो ज्यादा और न ही कम नमी होनी चाहिए .इसलिए हमें पता होना चाहिए ऐसा क्या करें कि त्वचा का extra oil निकल जाए और त्वचा में निखार आए और कैसे जवान दिखे .

ऑयली स्किन की देखभाल में सबसे महत्वपूर्ण बात है त्वचा की सफाई .ऑयली स्किन में ऑयली ग्लैंड बहुत अधिक सक्रिय होती हैं और त्वचा से आयल बाहर निकालने लगता है ,जिससे त्वचा चिपचिपी हो जाती है .चिपचिपापन होने के कारण गन्दगी चिपक जाती है और इसके फलस्वरूप चेहरे पर मुंहासे ,कील ,दाग एवं धब्बे हो जाते है .चिपचिपा चेहरा धुप में जाने से जल्दी काला पड़ जाता है .

skin care in hindi for oily skin घरेलू इलाज़ तैलीय त्वचा के :

 

मुल्तानी मिट्टी Fuller’s mud g(harelu nuskhe in hindi for oily skin) :

Face pack for oily skin in hindi

मुल्तानी मिट्टी तैलीय त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है .मुल्तानी मिट्टी एक प्राकृतिक face pack है वैसे तो यह हर तरह की त्वचा को फायदा पहुंचता है परन्तु ऑयली स्किन में यह बहुत ज्यादा प्रभावशाली होती है .मुल्तानी मिट्टी में पानी ,गुलाब जल व बेसन मिलाकर पेस्ट बना लें .इसको पूरे चेहरे पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें .यह जैसे जैसे सूखता जायेगा आपके चेहरे से अतिरिक्त तेल एवम गन्दगी को सोखता जाएगा .इससे चेहरे पर खिंचाव आता है ,चेहरे की झुर्रियां ,कील ,मुहांसे दूर हो जाती हैं . मुल्तानी मिट्टी के नियमित प्रयोग से चेहरे पैर निखर एवं तेज आने लगता है .

चन्दन पाउडर का फेस पैक face pack for oily skin :

Face pack for oily skin in hindi

तैलीय त्वचा के लिए चन्दन पाउडर में गुलाब जल मिलाकर पेस्ट बना लें . इसको चहरे पर फेस पैक जैसा लगा लें . कुछ देर के लिए छोड़ दें . थोड़ी देर बाद पानी से धो लें .इससे त्वचा का अतिरिक्त तेल सूख जायेगा व चेहरे पर निखार आ जायेगा .

एलोवीरा का फेस पैक ( Aloevera gharelu nuskhe in hindi for oily skin ):

Face pack for oily skin in hindi

वैसे तो एलोवीरा ड्राई स्किन (सूखी त्वचा ) में नमी बढ़ने के लिए बहुत प्रभावशाली होता है परन्तु ऑयली स्किन की वजह से मुंहासे हो जाने पर इसको लगाने से बहुत फायदा होता है .एलोवीरा का जेल , दूध ,शहद ,हल्दी ,गुलाब जल को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट बना लें .इसको चेहरे पर लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें .इससे चेहरे का अतिरिक्त तेल कम होता है .इससे मुंहासे, दाग , कील  से झुटकारा मिलेगा .एलोवीरा चेहरे, त्वचा व बालों के लिए बहुत फायदेमंद है .इसके जूस को नियमित रूप से पीने से त्वचा व बालों की कोई समस्या नहीं होती .

ताजे फलों का फेस पैक (Fruits Face pack gharelu nuskhe in hindi for oily skin ):

 

Face pack for oily skin in hindi

फलों का रस स्वस्थ त्वचा के लिए बहुत लाभकारी होता है .अगर कोई नियमित रूप से ताजे फलों का रस पीता है तो उसकी त्वचा चमकदार व स्वस्थ बनी रहती है .परन्तु इसके लिए जरूरी है एक स्वस्थ दिनचर्या की .जो इस व्यस्त जीवन में बहुत मुश्किल है .अगर हम सभी फलों का एक फेस पैक बना लें और उसे प्रयोग करें तो त्वचा को स्वस्थ बना सकते हैं .ऐसे तो बाज़ार में ऐसे बहुत से फेस पैक मिलते हैं लेकिन उसमें कैमिकल होने के कारण नुकसान ज्यादा होता है . घर पर Mixed fruit gharelu nuskhe in hindi for oily skin  बनाने के लिए अंगूर , स्ट्राबेरी ,संतरा ,आम ,सेब, लें .इन सबका गूदा निकाल लें .अब इनका रस निकाल कर मिला लें . इसको चेहरे पर कुछ देर लगाकर चेहरे को धो लें .इससे अतिरिक्त तेल चेहरे से निकल जायेगा व चेहरे पैर चमक आ जाएगी .

चेहरे की त्वचा बेहद संवेदनशील एवं नाजुक होती है इसलिए इसपर कैमिकल का इस्तेमाल बहुत हानिकारक हो सकता है .बाज़ार में मिलने वाले अधिकतर प्रसाधन के सामान में कैमिकल का प्रयोग होता है .इसके नियमित इस्तेमाल से त्वचा रूखी एवं बेजान हो जाती है और चेहरे पर झुर्रियां एवं उम्र नज़र आने लगती है .इसलिए जितना हो सके इन प्रोडक्ट्स से दूर रहे और प्राकृतिक साधनों को ही प्रयोग में ही लगायें .अगेर फिर भी जरूरी हो तो आप हर्बल प्रोडक्ट या फेस वश का प्रयोग करें .

त्वचा में सबसे महत्वपूर्ण होता है उसमें नमी .इसलिए जितना आप पानी पीते हैं उसका सीधा असर आपकी त्वच पैर पड़ता है .जितना ज्यादा पानी पियेंगे त्वचा में चमक एवं तेज बढ़ता जायेगा .इसलिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए .

अत्यधिक ऑयली भोजन से बचना चाहिए .ऑयली एवं मसालेदार भोजन से त्वचा के ऑयली ग्लैंड्स अधिक सक्रिय हो जाते हैं एवं ज्यादा तेल त्वच से बाहर निकलने लगते हैं .

तैलीय त्वचा वालों को थोड़ी थोड़ी देर में साबुन से चेहरे को धोना चाहिए . परन्तु साबुन में कैमिकल होने से इसका फायदा कम व नुक्सान ज्यादा होता है .इसलिए साबुन हर्बल वाला ही प्रयोग करें . बाज़ार में हर्बल फेस वाश  भी उपलब्ध हैं इसलिए beauty products का प्रयोग बहुत सोच समझ कर करें . चेहरे की त्वचा बहुत ही संवेदनशील होती है .जितना हो सके हर्बल व घरेलू सामान का ही प्रयोग करें .